उजियारे कवि

अद्‌भुत भारत की खोज
यहां जाएं: भ्रमण, खोज
गणराज्य इतिहास पर्यटन भूगोल विज्ञान कला साहित्य धर्म संस्कृति शब्दावली विश्वकोश भारतकोश
Tranfer-icon.png यह लेख परिष्कृत रूप में भारतकोश पर बनाया जा चुका है। भारतकोश पर देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

उजियारे कवि वृन्दावन, मथुरा (उत्तर प्रदेश) के निवासी नवलशाह के पुत्र और प्रसिद्ध कवि थे। इनके द्वारा लिखे हुए दो ग्रंथ मिलते हैं-

  1. जुगल-रस-प्रकाश
  2. रसचंद्रिका

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. कैलास चन्द्र शर्मा, हिन्दी विश्वकोश, खण्ड 2, पृष्ठ संख्या 58
निजी टूल
नामस्थान
संस्करण
क्रियाएं
भ्रमण
भारतकोश
सहायता
टूलबॉक्स