शतरूपा

अद्‌भुत भारत की खोज
यहां जाएं: भ्रमण, खोज
गणराज्य इतिहास पर्यटन भूगोल विज्ञान कला साहित्य धर्म संस्कृति शब्दावली विश्वकोश भारतकोश
Tranfer-icon.png यह लेख परिष्कृत रूप में भारतकोश पर बनाया जा चुका है। भारतकोश पर देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

शतरूपा स्वायंभुव मनु की स्त्री थी, जिनका जन्म ब्रह्मा के वामांग से हुआ था।[1] इन्हें प्रिय्व्रात, उत्तानपाद आदि सात पुत्र और तीन कन्याएँ उत्पन्न हुईं।

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. ब्रह्मांडपुराण 2-1-57
  2. मत्स्यपुराण 4-24-30
  3. स्वर्गीय रामाज्ञा द्विवेदी
निजी टूल
नामस्थान
संस्करण
क्रियाएं
भ्रमण
भारतकोश
सहायता
टूलबॉक्स